बहू अगर नींबू खा रही हो तो जरूरी नहीं कि कोई खुशखबरी हो।

जमाना बदल गया है… हो सकता है वो रात की उतार रही हो।

बहू अगर नींबू खा रही हो तो जरूरी नहीं कि कोई खुशखबरी हो।